गरीबी से निकलकर भारत के लिए  खेले ये क्रिकेटर्स

Credits:Instagram
Credits:Instagram/mahi7781

महेंद्र सिंह धोनी बहुत ही गरीब परिवार से निकलकर क्रिकेट में आए, उन्होंने रेलवे स्टेशन पर टिकट कलेक्ट का काम किया।

Credits:Instagram/yusuf_irfan_fc

इरफान पठान और यूसुफ पठान  का टीम इंडिया  तक पहुंचने का सफर इतना आसान नहीं  था ।

Credits:Instagram/pathanbrother_fc

दोनों भाई इरफान और यूसुफ गरीब परिवार से जुड़े थे  जिनके पिता मस्जिद में झाडू लगाने का काम करते थे।

Credits:Instagram/umeshyaadav

भारतीय तेज गेंदबाज उमेश यादव का बचपन गरीबी में बीता, उनके पिता कोयले की खदान में काम करते थे।

Credits:Instagram/imbhuvi

भुवनेश्वर कुमार का बचपन भी  आर्थिक तंगी में गुजरा  उनके पिता पुलिस अफसर रहे हैं।

Credits:Instagram/ravindra.jadeja

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में आने से पहले रविंद्र जडेजा गरीबी की मार झेल चुके हैं, उनके पिता प्राइवेट कंपनी में चौकीदार थे

Credits:Instagram/munafpatel13

तेज गेंदबाज मुनाफ पटेल ने खुद कोयले की खदान में काम किया है लेकिन क्रिकेट ने उनकी जिंदगी बदल डाली।

Credits:Instagram/hardikpandya93

हार्दिक पांड्या और उनके बड़े भाई क्रुणाल पांड्या ने भी   आर्थिक तंगी झेली है।

Credits:Instagram/hardikpandya93

पांड्या ब्रदर्स ने गरीबी को झेलते हुए क्रिकेट का सफर तय किया और उन्हें आईपीएल से पहचान मिली।

Credits:Instagram/mdshami.11

मोहम्मद शमी के पिता खेतों में काम करते थे और उनका बचपन भी गरीबी में भी  बीता।

Credits:Instagram/rishabpant5274

ऋषभ पंत  का  बचपन भी संघर्ष में बीता उनके  परिवार के पास कभी  किराया चुकाने के पैसे भी नहीं हुआ करते थे।